Image description

यूपी में 5 शहरों में काउंटिंग से पहले ईवीएम और बैलेट बॉक्स की छेड़छाड़ को लेकर मंगलवार को जमकर हंगामा हुआ। वाराणसी में सबसे अधिक बवाल हुआ। यहां पहड़िया मंडी स्थित स्ट्रांग रूम के बाहर एक गाड़ी से EVM मिली। यह खबर लखनऊ पहुंची तो अखिलेश यादव ने प्रेस कॉफ्रेंस की। उन्होंने ईवीएम की रक्षा की अपील की। उधर, हजारों की संख्या में सपा कार्यकर्ता पहाड़िया पहुंच गए और खूब हंगामा हुआ।

एसपी कार्यकर्ताओं ने डीएम को घेर लिया। बढ़ती अशांति के कारण तत्काल 15 थानों की फोर्स बुलानी पड़ी। तभी अर्धसैनिक बल की टीम पहुंची और डीएम को परिसर में सुरक्षित स्थान पर ले गई। कमिश्नर दीपक अग्रवाल ने कहा- ईवीएम मूवमेंट प्रोटोकॉल में हुई है। आयोग को रिपोर्ट भेजी गई है।  वहीं डीएम-कमिश्नर को मतगणना प्रकिया से बाहर करने की ऑब्जर्वर से मांग की गई है।

 स्ट्रॉग रूम के अंदर ईवीएम सील बंद हैं और सुरक्षित 

मुख्य निर्वाचन अधिकारी उधर, उत्तर प्रदेश के मुख्य चुनाव अधिकारी ने कहा कि कुछ ईवीएम आठ मार्च को वाराणसी लाई गई थीं,जिन पर वहां उपस्थित राजनीतिक प्रतिनिधियों द्वारा आपत्ति की गई। जांच में यह पाया गया है कि ये EVM प्रशिक्षण के लिए चिन्हित थीं। कुछ राजनीतिक लोगों ने चुनाव में इस्तेमाल की गई EVM कह कर अफवाह फैलाया। सभी EVM स्ट्रॉग रूम के अंदर सील बंद हैं और सुरक्षित हैं जो मतदान के दौरान उपयोग में लाई गई ।