Image description

नागपुर समेत विदर्भ में जहां पारा गोता खाने पर लोगों को गर्मी से राहत मिली, वहीं महावितरण को भी काफी राहत मिली है. बिजली की मांग में कमी आई है। महावितरण राज्य में (मुंबई छोड़कर) 24500 मेगावॉट बिजली आपूर्ति करने की दिशा में कदम उठा रहा है, वहीं रविवार व सोमवार को डिमांड कम होने से कहीं भी लोडशेडिंग की नौबत नहीं आई।

23500 मेगावॉट रही डिमांड

लोडशेडिंग से राहत देने के लिए महावितरण पहले ही वार रूम शुरू कर चुका है। पूरी मशीनरी इस काम में लगी हुई है। इसका सार्थक असर भी हुआ आैर पिछले कुछ दिनों से नागपुर जिले में लोडशेडिंग नहीं हो रही है। रविवार 1 मई को राज्य में 21300 मेगावॉट बिजली की मांग रही। यह अपेक्षा से कम डिमांड है। इसी तरह सोमवार 2 मई को बिजली की डिमांड बढ़ी, लेकिन यह डिमांड 24 हजार तक नहीं पहुंची। सोमवार को 23500 मेगावॉट तक बिजली की डिमांड रही। इतनी बिजली आपूर्ति करने में महावितरण फिलहाल सक्षम है। महावितरण ने दावा किया है कि पिछले कुछ दिनों से जिले में कहीं भी लोडशेडिंग नहीं हो रही है।