Image description

पंजाब पुलिस ने चार संदिग्ध बब्बर खालसा आतंकवादियों के दो अन्य साथियों को गिरफ्तार करने में कामयाबी हासिल की, जिन्हें हरियाणा के करनाल जिले में विस्फोटकों के साथ हिरासत में लिया गया था। पुलिस का कहना है कि ये दोनों आतंकी पाकिस्तान स्थित आतंकी हरविंदर संधू उर्फ ​​रिंदा के इशारे पर बॉर्डर से सप्लाई ला रहे थे. दोनों आतंकियों की पहचान फिरोजपुर के पीरके गांव के आकाशदीप सिंह उर्फ ​​आकाश (25) और फरीदकोट के जसप्रीत सिंह उर्फ ​​जस (19) के रूप में हुई है.

पुलिस के अनुसार, आकाशदीप ने अपने वाहनों का इस्तेमाल विभिन्न स्थानों पर विस्फोटक पहुंचाने के लिए किया। गुरप्रीत और आकाश कुछ समय पहले मिले थे। गुरप्रीत ने पैसे लेकर आकाशदीप को बरगलाया और आतंकी गतिविधियों में शामिल किया।

बूटेवाल गांव से उठाई थी खेप

गुरप्रीत का पाकिस्तानी अंतरराष्ट्रीय आतंकवादी बाबर खालसा, हरविंदर सिंह उर्फ ​​रिंदा के संपर्क में था।।  रिंदा ने हथियार और विस्फोटक ले जा रहे ड्रोन की मदद से शिपमेंट को भारतीय सीमा पर भेजा था। रिंदा के कहने पर आकाशदीप ने मक्खो-फिरोपुर रोड से 18 किलोमीटर दूर बूटेवाला गांव के एक खेत से माल लिया और गुरप्रीत को देता था.

व्हाट्सऐप व टेली-कॉलिंग से रिंदा संपर्क में था

प्रारंभिक जांच में पता चला है कि पंजाब पुलिस द्वारा शुक्रवार को गिरफ्तार किए गए आतंकवादियों आकाश और रिंदा फोन कॉल और सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म के जरिए संपर्क में रहे। शिपमेंट को कहां से उठाएं और कहां स्टोर करें, इसकी सूचना रिंदा टेली-कॉलिंग और सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म की मदद से ही आकाशदीप को देता था।